ईशान किशन का सिलेक्शन कितना सही? क्या साहा होते बेहतर विकल्प? BCCI ने कर दी बड़ी गलती

19
WhatsApp Group Join Now

सोमवार की शाम को भारतीय क्रिकेट टीम की सिलेक्शन कमेटी ने WTC फाइनल के लिए एल राहुल के रिप्लेसमेंट के तौर पर ईशान किशन की टीम इंडिया में एंट्री कराई। इसके साथ ही स्टैंड बाय खिलाड़ी के तौर पर सूर्यकुमार यादव, मुकेश कुमार और रुतुराज गायकवाड़ को टीम के साथ जोड़ा गया है। लेकिन अब फैंस के मन में एक बड़ा सवाल है कि ईशान किशन तो कुछ खास फॉर्म में नहीं है, तो फिर उन्हें क्यों चुना गया? क्या उनकी जगह रिद्धिमान साह, बेहतर विकल्प होते? तो चलिए जानते हैं आपके इन सवालों का जवाब। दरअसल, ईशान किशन का टेस्ट क्रिकेट में अभी तक डेब्यू नहीं हुआ है। ईशान को बांग्लादेश के खिलाफ खेली गई टेस्ट सीरीज में टीम में शामिल किया गया था, लेकिन उनको प्लेइंग इलेवन में मौका नहीं दिया गया था। यानी ईशान के पास इंटरनेशनल लेवल पर क्रिकेट के सबसे लंबे फॉर्मेट में खेलने का कोई अनुभव नहीं है।

दूसरी बात यह है WTC का फाइनल इंग्लैंड में खेला जाना है, जोकि ऑस्ट्रेलिया जैसी बड़ी टीम के खिलाफ होगा. अब ईशान ने इंग्लैंड में ईशान ने वनडे और टी-20 को मिलाकर कुल एक मैच खेला है.बात करे ईशान किशन की हालिया फॉर्म की तो वो भ कुछ खास नहीं है. ईशान किशन इस आईपीएल 2023 में मुंबई इंडियंस की ओर से खेलते हुए एक एक रन के लिए जूझते हुए नजर आ रहे. हालाँकि, एक मैच में इनका बल्ला चल भी है, लेकिन ये काफी नहीं हैं

क्या साहा होते बेहतर विकल्प?

सवाल यह भी है कि क्या ईशान किशन से बेहतर रिप्लेसमेंट ऋद्धिमान साहा होते. साहा के पास काफी अनुभव तो मौजूद है ही, इसके साथ ही वह इस समय IPL 2023 में अपने बल्ले से जमकर चमक भी